The Bengaluru Kid Death : 9 साल की उम्र में लगा रफ्तार का नशा, आज बन गई मौत की वजह, 13 वर्षीय भारतीय बाइक रेसर का निधन 

 

नई दिल्ली। The Bengaluru Kid Death : भारत मे बेंगलुरु के रहने वाले श्रेयस को कम उम्र में ही रफ़्तार का नशा चढ़ चुका था। जैसे जैसे वह प्रोफेशनल होते चले गया दुनिया उसे वाह वाही देने लगी थी। वह ट्रेक्स पर तेज रफ़्तार में बढ़िया स्किल्स के साथ रेस जीत जाता था। सोशल मीडिया पर उसे फैंस का खूब प्यार मिलता था। सोशल मिडिया यूजर्स उसे द बेंगलुरु किड भी कहते थे। लेकिन शायद किसी को अंदाजा भी नहीं हुआ की जिस रफ़्तार से वह प्यार करता था, एक दिन वह ही उसकी मौत बनकर आएगी।

The Bengaluru Kid Death : एमआरआफ एमएमएससी एफएमएससीआई इंडियन नेशनल मोटरसाइकिल रेसिंग चैंपियनशिप 2023 (MRF MMSC FMSCI Indian National Racing Championship) का आयोजन 5 अगस्त को चेन्नई में हुआ। कम क़्क्त में कई रेस जीतकर पहचान बनाने वाले श्रेयस भी इसमें हिस्सा ले रहे थे।यह रेस मद्रास इंटरनेशनल सर्किट में हो रहा था। रेस के दौरान श्रेयस की बाइक टर्न पार करते हुए क्रैश हो जाती हैं। जिसमें श्रेयस हरीश को गंभीर चोटें आती हैं। रेसिंग ट्रैक के पास ही मौजूद एंबुलेंस में उन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन तब तक हरीश की मौत हो चुकी थी।

Read More : The Bengaluru Kid Death Pak Train Accident : पकिस्तान में बड़ी रेल दुर्घटना, डिरेल हुए 10 बोगियां, हादसे में की 30 मौत-100 घायल,,    

The Bengaluru Kid Death : रेस की शुरुआत में ही पहले टर्न को पार करते हुए एक क्रैश हो गया और उसमें श्रेयस अपनी बाइक से गिर गए। इस हादसे के कारण 13 साल के रेसर के सिर पर गंभीर चोट लग गई, जो अंत में जानलेवा साबित हुई। हादसे के तुरंत बाद स्टैंडर्स प्रोटोकॉल के तहत रेस को रेड फ्लैग दिखाकर रोक दिया गया और रेस वहीं खत्म हो गई।

10 दिन पहले मनाया जन्मदिन : The Bengaluru Kid Death

The Bengaluru Kid Death : श्रेयस का जन्म 2010 में हुआ था और वो पिछले चार साल से रेसिंग कर रहे थे।10 दिन पहले 26 जुलाई को अपना 23वां जन्मदिन मनाने वाले श्रेयस ने प्रोफेशनल मोटर रेसिंग में अपना और देश का नाम रोशन करने के प्रयास में दमदार शुरुआत की थी और नेशनल लेवल पर कुछ रेस जीत चुके थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मौजूदा सीजन में ही श्रेयस ने टीवीएस वन मेक चैंपियनशिप की रुकी कैटेगरी में लगातार 4 रेस जीती थीं।

 

Related Articles

Back to top button